2 Line Shayari (2022-23) NEW

2 Line Shayari2 Line Shayari
2 Line Shayari

अब खुद से ये वादा है
उड़ेंगे जरुर पर खुद के दम पर

Ab Khud Se Ye Vaada Hai
Udenge Jarur Par Khud Ke Dam Par

मन बावला सा है दिल थोड़ा उदास है
आँखे नम सी है पर चेहरे पे मुस्कुराहट अब भी बरक़रार है

Man Baavala Sa Hai Dil Thoda Udaas Hai
Aankhe Nam See Hai Par Chehare Pe Muskuraahat Ab Bhee Baraqaraar Hai

मैं अब भी बेताब हं कितना उसका होने को.
एक वो शख्स है जो मेरा होना नहीं चाहता

Main Ab Bhee Betaab Han Kitana Usaka Hone Ko.
Ek Vo Shakhs Hai Jo Mera Hona Nahin Chaahata

उन्हे फिर से मोहब्बत हुई हैं ये कहते है सभी
भला दूसरी बारिश पर मिट्टी महकी हैं कभी

Unhe Phir Se Mohabbat Huee Hain Ye Kahate Hai Sabhee
Bhala Doosaree Baarish Par Mittee Mahakee Hain Kabhee

नींद तुम रूठो न मुझसे यूँ न तरसाया करी
नींद ही दिलबर नहीं तुम वक़्त पर आया करी

Neend Tum Rootho Na Mujhase Yoon Na Tarasaaya Karee
Neend Hee Dilabar Nahin Tum Vaqt Par Aaya Karee