Dosti Shayari

Dosti Shayari | 358+ दोस्ती शायरी

दस्तूर ए वफा निभाना छोड़ दूं
बताओ कैसे मैं मयखाना छोड़ दूं
शायरी बन चुकी है अब सांसे मेरी
फिर कैसे कलम चलाना छोड़ दू

 

Dastoor E Vapha Nibhaana Chhod Doon
Batao Kaise Main Mayakhaana Chhod Doon
Shaayaree Ban Chukee Hai Ab Saanse Meree
Phir Kaise Kalam Chalaana Chhod Doo