Good Night Shayari, गुड नाईट शायरी 873+

कितनी जल्दी से मुलाकात गुजर जाती है,
प्यास बुझती नही बरसात गुजर जाती है,
अपनी यादों से कहो की यूँ ना सताया करे,
नींद आती नही और रात गुजर जाती है.

 

kitanee jaldee se mulaakaat gujar jaatee hai,
pyaas bujhatee nahee barasaat gujar jaatee hai,
apanee yaadon se kaho kee yoon na sataaya kare,
neend aatee nahee aur raat gujar jaatee hai.

 

तेरे बिना कैसे मेरी गुज़रेंगी ये रातें,
तन्हाई का गम कैसे सहेंगी ये रातें,
बहुत लंबी है ये घड़ियाँ इंतेज़ार की,
करवट बदल-बदल कर कटेंगी ये रातें.

 

tere bina kaise meree guzarengee ye raaten,
tanhaee ka gam kaise sahengee ye raaten,
bahut lambee hai ye ghadiyaan intezaar kee,
karavat badal-badal kar katengee ye raaten.